मुख्यमंत्री ने शिक्षकों के वेतन संबंधी समस्या का किया तत्काल निराकरण

मुख्यमंत्री को ट्वीट कर शिक्षकों ने दी थी जानकारी : अवकाश के दिन दफ्तर खोलकर शिक्षकों के खाते में जमा कराया गया लंबित वेतन

रायपुर- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शिक्षकों के वेतन लंबित रहने के प्रकरणों को गंभीरता से लेते हुए उनका परीक्षण कर तत्काल उनका निराकरण करने के निर्देश दिए। जिस पर तत्काल कार्रवाई की गई। बिलासपुर जिले के नगर पंचायत कोटा और तिफरा, महासमुंद जिले के नगर पंचायत बसना में आज शासकीय अवकाश के दिन कार्यालय खोलकर के शिक्षकों का पिछले 3 माह से लंबित वेतन तत्काल उनके बैंक खातों में जमा कराया गया। साथ ही रायगढ़ जिले के जनपद पंचायत घरघोड़ा के शिक्षकों का वेतन भी जल्द जमा कराने के निर्देश दिये गए।
        उल्लेखनीय है कि शिक्षकों ने मुख्यमंत्री श्री बघेल को उनके ट्वीटर अकॉउंट में ट्वीट कर पिछले 3 माह से वेतन नही मिलने की जानकारी दी थी। इस पर मुख्यमंत्री ने तत्काल संज्ञान लेते हुए संबंधित अधिकारियों को शिक्षकों को वेतन देने के निर्देश दिए थे।
        शिक्षकों की तीन माह की वेतन की राशि नगरपालिका परिषद तिफरा द्वारा 7 लाख 95 हजार, बसना नगर पंचायत द्वारा 30 लाख 31 हजार पांच सौ छह रूपये, कोटा नगर पंचायत द्वारा 24 लाख उन्नीस हजार पांच सौ छह रूपये बैंक खातों में जमा कर दिया गया है।

    इसके साथ ही नगर पालिका परिषद तखतपुर अंतर्गत कार्यरत शिक्षकों को पिछले चार माह का वेतन भुगतान नहीं होने पर भी संज्ञान लेते हुए तखतपुर नगर पालिका के मुख्य नगर पालिका अधिकारी से जवाब तलब किया गया है। नगरीय निकायों के शिक्षकों के वेतन भुगतान लंबित होने पर नगरीय प्रशासन विभाग के संयुक्त संचालक श्री बी.पी.काशी, अनुदान शाखा के कार्यपालन अभियंता श्री श्याम पटेल एवं ईश्वर ताम्रकार को नोटिस भी जारी किया गया है।
Share on Google Plus

About Editor News

0 comments:

Post a Comment